img

जैन गौमूत्र चिकित्सा थेरेपी का चयन क्यों करें ?

अधिकांश सामान्य बीमारियों के लिए उपचार

विज्ञान

हमारी गाय मूत्र चिकित्सा से संबंधित कुछ जानकारी आपको अधिक आसानी से समझने में मदद करेगी।

How to Protect Against Coronavirus

  • By Cow Urine, 13-March-2020

Since late 2019, the world has had to face the growing threat of the latest coronavirus outbreak. The virus has been named SARS-CoV2 and the viral disease that it causes has been named COVID-19. As of now

Read More

कोविद १९ से बचने के उपाय - कोरोना के टिप्स

  • By Cow Urine, 07-March-2020

पिछले कुछ वर्षों से दुनिया में नई नई बीमारियों का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है ।और अब कोरोना वायरस ने पूरे विश्व पर कहर ढाया है |

Read More

Know The Effective Asthma Treatment in Ayurveda

  • By Cow Urine, 04-March-2020

Every asthma patient has different symptoms. Some patients experience frequent asthma attacks and others have only mild symptoms. Studies show that 5-15 percent of patients with asthma don’t find much relief even after taking high doses of medicinal drugs.

Read More

अपने बारे में (गौमूत्र)

गाय जीवन का एक पवित्र प्रतीक है और भारत में कई हिंदुओं द्वारा पूजी जाती है और मां के रूप में मानी जाती है न केवल उसके दूध, दही, घी, बल्कि उसके गायपत और मूत्र के कारण भी जिनके अपने कई चमत्कार हैं। गाय से प्राप्त इन पांच सामग्रियों को पंचगव्य कहा जाता है। इस मूत्र का अपना आध्यात्मिक शुद्धता का प्रभाव है और साथ ही गाय एक चलतीं फिरती औषधालय है जिसमें दवाओं का खजाना है। गोमूत्र में सोडियम, नाइट्रोजन, सल्फर, विटामिन ए, बी, सी, डी, ई, खनिज, मैंगनीज, लोहा, सिलिकॉन, क्लोरीन, मैग्नीशियम, साइट्रिक एसिड, स्यूसेनिक एसिड, कैल्शियम, लवण, फॉस्फेट, लैक्टोज, कार्बोलिक एसिड, मैलिक एसिड, टार्टरिक एसिड, एंजाइम, क्रिएटिनिन और हार्मोन जैसे कई आवश्यक तत्व होते हैं l

ये तत्व मानव शरीर में वात, पित्त और कफ के बीच उचित संतुलन बनाए रखते हैं l मानव शरीर में इनमें से किसी भी तत्व के असंतुलन से शरीर में विकार होते हैं, गोमूत्र चिकित्सा के उपयोग से मानव शरीर में इन तत्वों की कमी या अधिकता को संतुलित किया जा सकता है। गोमूत्र कई दवाओं के शुद्धिकरण और विषहरण में भी प्रमुख भूमिका निभाता है।

गोमूत्र बिना किसी दुष्प्रभाव के कई बीमारियों का एक बेहतरीन उपचार है l इसके अलावा, इससे किया गया उपचार अस्थायी नहीं होता है अपितु यह जीवन भर के लिए स्थायी रहता है। गोमूत्र जहरीला अपशिष्ट पदार्थ नहीं है, यह 95% पानी से बना है, 2.5% में यूरिया और खनिज लवण शामिल हैं और शेष 2.5% हार्मोन और एंजाइमों का मिश्रण है यहां तक कि कुछ जहर को परिष्कृत और शुद्ध किया जा सकता है यदि इसे गोमूत्र में तीन दिन के लिए भिगोया जाता है l अधिक पढ़ें

मरीज क्या कह रहे हैं

"विभिन्न अध्ययन किए गए हैं जहां जैन गाय के मूत्र चिकित्सा ने रोगियों में महत्वपूर्ण सुधार दिखाया है।"


"Don't talk to me about JavaScript fatigue" - Horse JS